वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इटावा श्री आकाश तोमर के निर्देशन में अपराध एवं अपराधियों के विरूद्व अपर पुलिस अधीक्षक नगर इटावा व क्षेत्राधिकारी नगर के नेतृत्व में एसओजी इटावा एवं थाना सिविल लाइन की संयुक्त टीम द्वारा लोगों को नौकरी आदि का झांसा देकर ठगी करने वाले गिरोह के 01 फर्जी आई0आर0एस अधिकारी सहित कुल 05 अभियुक्तों को किया गया गिरफ्तार।

गिरफ्तारी का संक्षिप्त विवरण-

दिनांक 12.06.2020 को थाना सिविल लाइन पुलिस टीम द्वारा लाॅकडाउन के नियमों के अनुपालन हेतु डीएम चैराहे पर संदिग्ध वाहन/व्यक्ति चेकिंग की जा रही थी

इसी दौरान मुखबिर द्वारा सूचना दी गयी कि एक नीली बत्ती लगी इनोेवा कार लौहन्ना चैराहे की ओर से इटावा शहर की ओर आ रही है जिसमें लगभग 05 लोग सवार है उनके द्वारा विगत कुछ समय से आम जनता को नौकरी आदि का झांसा देकर पैसे ठगने का काम करते है।

पुलिस टीम द्वारा मुखबिर की सूचना के आधार पर एसओजी इटावा व थाना सिविल लाइन की संयुक्त टीम द्वारा पुलिस लाइन तिराहे पर संघन चेकिंग की जाने लगी इसी दौरान लौहन्ना चैराहे की ओर से एक नीली बत्ती लगी कार आती हुई दिखाई दी

जिसे पुलिस टीम द्वारा टाॅर्च की रोशनी दिखाकर रोकने का प्रयास किया गया जिसपर कार सवार द्वारा गाडी रोककर उतकर भागने का प्रयास किया गया जिन्हे पुलिस टीम द्वारा आवश्यक बल प्रयोग कर घेराबन्दी करके पकड लिया गया।

 पुलिस टीम द्वारा गाडी से उतकर भागते हुए कुल 05 लोगों को पकडा गये तथा गाडी व पकडे गये लोगों से उपायुक्त विजिजेंस अधिकारी का फर्जी आई0डी0 कार्ड, भारी मात्रा में फैक्ट्री मेड रायफल, विभिन्न न्यूज चैनल की माइक आईडी, फर्जी मोहरे आदि सामान बरामद हुए।

पुलिस पूछताछ- पुलिस टीम द्वारा अभियुक्त से की गयी पूछताछ में अभियुक्त मनीष कुमार द्वारा बताया गया कि में विगत 2-3 वर्ष से लगातार आई0आर0एस0 एवं आई0पी0एस अधिकारी बनकर दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद, इटावा व प्रदेश के विभिन्न जनपदों में विजिलेंस अधिकारी बनाकर लोगों से ठगी का काम करते थे।

अभियुक्त द्वारा बताया गया कि स्वयं ही किसी भी व्यक्ति के खिलाफ आई0जी0आर0एस0 शिकायत डालकर स्वयं ही सरकार की ओर से जांच टीम बनकर व्यक्ति को ब्लैकमेल करके रूपये ठगने का काम करते थे।

अभियुक्त द्वारा यह भी बताया गया कि वह अपने साथ अपने पत्र मित्रों को भी साथ रखते थे जिससे किसी भी व्यक्ति को ब्लैकमेल करके ठगी की जा सके तथा अपना काम कराने के लिये किसी भी अधिकारी पर दबाव बनाया जा सके।

  पुलिस पूछताछ में यह तथ्य भी सामने आये कि अभियुक्त मनीष बर्खास्त बैंक PO कर्मचारी है जिसे बैंक द्वारा बैंक लोन धोखाधडी में बर्खास्त कर दिया गया था उसके बाद से ही अभियुक्त द्वारा फर्जी आई0आर0एस0 अधिकारी बनकर ठगी करता था। अभियुक्त द्वारा स्वयं को आई0आर0एस0 अधिकारी के तौर पर दिखाने के लिये फर्जी आई0डी0 कार्ड व फर्जी बेवसाइट भी बनायी गयी थी।

पंजीकृत अभियोग-

  1. मु0अ0सं0 239/20 धारा 171,420,467,468,471,120बी भादवि थाना सिविल लाइन बनाम मुनीष व अन्य 04
  2. मु0अ0सं0 240/20 धारा 25,27,30 आम्र्स एक्ट थाना सिविल लाइन बनाम योगश कुमार
  3. मु0अ0सं0 240/20 धारा 25,27,30 आम्र्स एक्ट थाना सिविल लाइन बनाम योगश कुमार
  4. मु0अ0सं0 241/20 धारा 3/25 आम्र्स एक्ट थाना सिविल लाइन बनाम बलवन्त कुमार खरवार
  5. मु0अ0सं0 242/20 धारा 3/25 आम्र्स एक्ट थाना सिविल लाइन बनाम रामकुमार
  6. मु0अ0सं0 243/20 धारा 3/25 आम्र्स एक्ट थाना सिविल लाइन बनाम सौरभ चैहान
  7. मु0अ0सं0 244/20 धारा 420,386 भादवि थाना सिविल लाइन

गिरफ्तार अभियुक्तों के नाम-

  1. मनीष कुमार पुत्र रामप्रकाश नि0जिगसौरा थाना जसवन्तनगर जनपद इटावा।(फर्जी विजिलेंस अधि0)
  2. योगेश कुमार पुत्र सतीश कुमार नि0 कस्बा धनौरा थाना मण्डी धनौरा जनपद अमरोहा
  3. बलवन्त कुमार खरवार पुत्र मदन खरवार नि0 तरैथा थाना भभुआ रामगढ बिहार
  4. रामकुमार पुत्र छोटेलाल नि0 बीलमपुर थाना इकदिल इटावा। (पत्रकार)
  5. सौरभ चैहान पुत्र देवेन्द्र चैहान नि0 विकास कालोनी पक्का बाग थाना इकदिल इटावा।(पत्रकार)
    बरामदगी-
  6. 01 फर्जी परिचय पत्र Deputy Commissioner Delhi
  7. 01 फर्जी लेटर पेड ब्ठप्
  8. 01 फैक्ट्री मेड रायफल व 06 जिन्दा कारतूस 315 बोर
  9. 01 फैक्ट्री मेड पिस्टल, 13 जिन्दा कारतूस व 01 मैगजीन 32 बोर (फर्जी आल इण्डिया परमिशन)
  10. 02 अवैध देशी तमंचा व 04 जिन्दा कारतूस 315 बोर
  11. 02 चैक सिण्डीकेट बैक (चैक कीमत 9,50,00,000रू0 व 96,90,715रू0)
  12. 02 शस्त्र लाइसेंस
  13. 01 नीली बत्ती लगी इनोवा कार यूपी 16 बीसी 4546
  14. 01 यूपीएससी की फर्जी मेरिट लिस्ट व ई-प्रवेश पत्र
  15. 03 फर्जी लेटर पेड
  16. 07 फर्जी विजिटिंग कार्ड Deputy Commissioner Delhi
  17. 08 मोबाइल फोन विभिन्न कम्पनी
  18. 05 विभिन्न टीवी न्यूज चैनल की माइक आईडी
  19. 09 मोहरे भिन्न-2 विभागों की

पुलिस टीम- प्रथम टीम- श्री सत्येन्द्र यादव प्रभारी एसओजी, श्री बी0के0 सिंह प्रभारी सर्विलास मय टीम।
द्वितीय टीम- श्री भूपेन्द्र सिंह राठी, थाना प्रभारी सिविल लाइन, श्री सुुबोध सहाय, उ0नि0 श्री सन्त कुमार मय टीम।

मीडिया सेल
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक
जनपद इटावा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here