चीन और पाकिस्तान पर कभी भरोसा नहीं किया जा सकता है – प्रो0 रामगोपाल यादव जी

Share to your Friends

विपक्षी दलों के साथ बैठक

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कल (19 जून 2020) आहूत विपक्षी दलों के साथ बैठक में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं सदस्य राज्यसभा प्रो0 रामगोपाल यादव जी ने भाग लिया।

उन्होंने गलवान घाटी की घटना के संदर्भ में कहा कि चीन और पाकिस्तान पर कभी भरोसा नहीं किया जा सकता है। हमें हमेशा सतर्क रहना पडे़गा। डोकलाम के बाद गलवान घाटी की घटना को देखते हुए हमें लांगटर्म के लिए तत्काल प्रभाव से तैयारी करनी चाहिए।
उन्होंने कहा युद्ध अंतिम विकल्प होता है। उन्होंने चीन को आर्थिक क्षति पहुंचाने को अस्त्र-शस्त्रों की चोट से भी ज्यादा खतरनाक बताया। उन्होंने हर छह माह में सर्वदलीय बैठक बुलाने का भी सुझाव दिया।

प्रो0 रामगोपाल यादव जी ने सर्वदलीय बैठक में कई महत्वपूर्ण सुझाव दिए।

उन्होंने कहा सरकार कुछ भी कहें किन्तु सच यह है कि चीन ने हमारी कुछ जमीन पर कब्जा कर लिया है। इसको कूटनीतिक राजनीतिक वार्ताओं के जरिए वापस लेना होगा।

उन्होंने कहा कि प्राथमिकता के तौर पर चीन-पाकिस्तान की सीमा तक जाने वाली सड़कों को सिक्सलेन हाईवेज में परिवर्तित करने के लिए युद्धस्तर पर कार्य शुरू करना होगा। जैसे ग्वालियर से लिपुलेख तक जाने वाली सड़क ग्वालियर कैण्ट, फतेहगढ़ कैण्ट, बेरली कैण्ट से सीधे जुड़ती है। लखनऊ कैण्ट और कानपुर कैण्ट से भी हमारी सेनाए काफी कम समय में इस हाईवे पर पहुंच सकती है।

श्री यादव जी ने कहा कि चीनी उत्पादों का आयात रोका जाना चाहिए

क्योंकि उनसे हमारे कुटीर उद्योग खत्म हो गए है और करोड़ों लोग बेरोजगार हो गए है। भारत चीन के उत्पादों का डम्पिंग ग्राउण्ड बन गया है। आयात पर तत्काल रोक पर कोई दिक्कत हो तो चीन से आयातित उत्पादों पर 300 प्रतिशत डयूटी लगाने की व्यवस्था होनी चाहिए।

प्रो0 रामगोपाल जी ने सुझाव दिया कि अरूणाचल प्रदेश से लेकर कच्छ तक जितने लोकसभा क्षेत्र, चीन और पाकिस्तान की सीमा से मिलते हैं, उनके सांसदों से हर तीन माह में मिलकर जमीनी हकीकत की जानकारी लेनी चाहिए।

प्रो0 रामगोपाल यादव जी ने कहा कि युद्ध किसी देश के लिए हितकर नहीं होता है, यह केवल विनाश लाता है। इसलिए शांति के यदि प्रयास असफल हो जाएं और चीनी सैनिक हमारी सीमाओं से वापस न हटें तो युद्ध को अंतिम विकल्प के रूप में ही चुना जाए और इस अवधि में भारत को अपनी सेनाओं को पूरी तरह सुसज्जित करके सीमाओं की रक्षा के लिए तैयार रखा जाए।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने एक बयान में कहा है कि आज पूरा देश व हर दल, चीन और एलएसी पर प्रधानमंत्री जी के साथ पूरे विश्वास के साथ खड़ा है। अब सरकार को यह सुनिश्चित करना होगा कि देश की सीमाओं के साथ ही जनता के विश्वास की भी शत-प्रतिशत रक्षा हो।

Ex CM OF UP Akhilesh YADAV

श्री अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार के समय बने आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे आज देश की सेना के लिए रनवे की तरह तैयार है। यहां लड़ाकू विमान उतर सकते है और यहां से उड़ान भी भर सकते हैं। यह एक्सप्रेस-वे एक दूरगामी निवेश की सोच का परिणाम है जिसका दोहरा लाभ देश के सैनिकों एवं जनता को निरन्तर मिलता रहेगा।

श्री अखिलेश यादव ने भारतीय विदेश नीति पर डाक्टर राममनोहर लोहिया का यह कथन उद्घृत किया कि ‘‘कमजोरों के सामने गरमी और ताकतवरों के सामने नरमी यह नीति चलती रही है।

कोई राज्य जब विदेशी पर अपना जोर नहीं दिखा पाता है तो वह अपने देशवासियों पर उसका इस्तेमाल करता है। हिमालय सम्बंधी हमारी सभी नीतियां इसलिए असफल रहेंगी क्योंकि हमारा दिल उनमें नहीं है। यह सरकार कोई काम ठीक से नहीं कर सकती है।‘‘

Source : Samajwadi Party (Facebook Handle)

Thank you for Reading News Sateek

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!