ब्रेकिंग न्यूज़ ।

आगरा। कल शुक्रवार शाम को अचानक से मौसम बदल गया। तूफान के साथ भारी बारिश हुई और देहात क्षेत्रों में जमकर ओले पडे। बिजली की गडगडाहट से लोग सहम गए, देहात में बिजली गिरने से दो लोगों के झुलसने की सूचना आ रही है।

बिजली भी रही पूरी रात गुल

जहां आधे शहर में 2 घंटे बाद बिजली आई तो वहीं आधा शहर अभी अंधेरे में ही डूबा हुआ है। भारी बारिश होने से अचानक तापमान में गिरावट आई और ठंडी हवाएं चलने लगी हैं। न्यूनतम तापमान लगभग 25 डिग्री हो गया।

बीते 4-5 दिनों से काफी गर्मी पड़ रही थी। लगातार तापमान 45 डिग्री से ऊपर बना हुआ था। लू चलने से शहरवासियों को काफी परेशानी हो रही थी।

स्थिति यह थी कि सुबह 7:00 बजे से लेकर शाम से लेकर शाम 7:00 बजे तक गर्मी से राहत नहीं मिल रही थी लेकिन आज अचानक बदले मौसम ने गर्मी से परेशान लोगों को राहत दे दी है है। हालांकि तूफान के साथ आए बारिश ने ने बारिश ने शहर में जगह-जगह आफत भी खड़ी कर दी है खड़ी कर दी है।

कहीं-कहीं पेड़ टूटकर सड़क पर गिर गए हैं तो एक खंभा टूट कर मकान पर गिरने से परिवार के बाल बाल बचने की खबर आई बचने की खबर आई है।

शाहगंज क्षेत्र में दीवार गिरने से माता-पिता और चार बच्चों के जख्मी होने की ख़बर आई है तो वहीं जयपुर हॉउस में एक बिजली का खंबा टूट कर गिर गया।

मलपुरा क्षेत्र के बमरौली अहीर गाँव में एक मकान की छत भरभरा कर गिर गयी लेकिन कोई जनहानि नहीं हुई।

फतेहाबाद में बेमौसम हुई बरसात और आंधी ने आज तबाही मचा दी है। तेज आंधी की वजह से आगरा में चारों तरफ पेड़ उखड़ गए यहां तक कि मकान भी धराशाई हो गए, गनीमत रही कि इस तेज आंधी और भारी बारिश से कोई हताहत होने की खबर नहीं आई लेकिन फतेहाबाद के ग्राम नगर चंद में तमाम पक्षी मर गए।

यही नहीं सड़कों के किनारे खड़े पेड़ भी धराशाई हो गए, बिजली के खंभे तक उखड़ गए।

1 ब्रेकिंग न्यूज़

आगरा में कल शाम भारी आंधी तूफान और ओलावृष्टि होने से काफी नुकशान। आगरा के एक गांव नेनारा ब्राह्मण में एक 8 साल की बच्ची की मौत दीबार गिरने से तुरंत हो गयी।

यह घटना बहुत हो दुखदायक है बच्ची का नाम नंदनी और पिता का नाम जयवीर सिंह कुशबाह है कल शाम से ही परिवार में कोहराम।

2 ब्रेकिंग न्यूज़

कल शाम के आंधी तूफ़ान से आगरा जनपद के धनौली क्षेत्र में भारी वर्षा और ओले आने से लोगो का बहुत नुकशान।

अज़ीज़पुर कस्वे में काफी लोगों के छतें से चद्दरें उड़ गयी। लोग इसी लोखड़ौन से काफी और ये एक परेशानियों का गोला उनके ऊपर गिर गया।

किसी की दीवार गिरी तो किसी की छत डेह गयी। जिनलोगो के पास पक्की छत वाले मकान नहीं थे उनके लिए हुआ है भरी नुकशान।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here