उप्र के औरैया जिले में आज सुबह भीषण सड़क हादसे में 24 मजदूरों की गयी जान और 36 लोग घायल हो गए है जिसमें की ज्यादा संख्या में लग बिहार झारखण्ड और पश्चिंम बंगाल से है।

औरैया सड़क हादसा- 24 मजदूरों की गयी जान


दिल्ली-कोलकाता हाईवे पर एक ढाबे के पास चाय पीने को रुकी मजदूरों से भरी डीसीएम में चूना लदे ट्रॉले ने टक्कर मार दी जिससे कि है हादसे में 24 लोगों की मौत हो गई। और 22 लोगों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

गंभीर हालत होने के कारण 14 लोगों को सैफई रेफर किया गया है। एक-एक कर चूने में दबे मृतकों के शवों को निकाला गया। हादसे का मंजर देख हर कोई सहम सा गया है।

बताया जा रहा है कि ये डीसीएम गाजियाबाद से 20 मजदूरों को लेकर मध्यप्रदेश के सागर जा रहा था। जबकि दूसरा ट्रक चूना से भरा हुआ राजस्थान से पश्चिम बंगाल को जा रहा था। इसमें तकलीबन 70 मजदूर सबार थे

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस हादसे को संज्ञान लेते हुए जान गंवाने वाले मजदूरों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने सभी घायलों को जल्द से जल्द चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जाने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही उन्होंने अधिकारीयों कमिश्नर और आईजी कानपुर को घटनास्थल का दौरा कर दुर्घटना के कारणों की तत्काल रिपोर्ट देने को कहा है।

जान गवाने वालों के नाम लिस्ट

साथ ही सीएम ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख तथा हादसे में गंभीर रूप से घायल हुए लोगों को 50-50 हजार की आर्थिक सहायता प्रदान किए जाने के निर्देश दिए हैं। 
और इस हादसे पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी twitter के जरिये हादसे में झुलसे लोगों
और मृतकों के प्रति संवेदना व्यक्त की है

लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के साथ सख्त रुख अख्तियार किया है। मुख्यमंत्री योगी के आदेश पर फतेहपुर सीकरी (आगरा) और कोसी कलान (मथुरा) के एसएचओ को निलंबित कर दिया गया है। 

सूत्रों के मुताबित औरैया में हुए दर्दनाक सड़क हादसे को सर्कार की लापरवाही बताया जा रहा है वही पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जी ने भी कहा है। हादसा नहीं हत्या है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here